भाजपा के पूर्व विधायक हेमराज मीणा ने लगाए संगीन आरोप- विधायक बेटे को दुष्यंत ने रिसॉर्ट में ठहराया था लेने गए तो धक्का-मुक्की की, यह रिसॉर्ट कांग्रेसी नेता का

बारां-झालावाड़ के कुल पांच विधायक रुके थे, कहा: सीएम फेस पर हम पार्टी के फैसले के साथ 

भाजपा के पूर्व विधायक हेमराज मीणा ने लगाए संगीन आरोप- विधायक बेटे को दुष्यंत ने रिसॉर्ट में ठहराया था लेने गए तो धक्का-मुक्की की, यह रिसॉर्ट कांग्रेसी नेता का

भाजपा प्रदेशाध्यक्ष सीपी जोशी, प्रदेश महामंत्री भजनलाल शर्मा भी कार्यकर्ताओं के साथ पहुंचे थे 

जयपुर। जयपुर के सीकर रोड पर एक रिसोर्ट में रुके भाजपा के बारां-झालावाड़ विधायकों में से किशनगंज विधायक ललित मीणा को वहां से लाने को लेकर मंगलवार की रात हुए पॉलिटिकल ड्रामें के बाद गुरुवार को विधायक पिता और किशनगंज से ही पूर्व विधायक रहे हेमराज मीणा ने संगीन आरोप लगाए हैं। 

उन्होंने भाजपा ऑफिस में मीडिया से बातचीत में कहा कि उनके बेटे ललित सहित बारां-झालावाड़ के पांच भाजपा विधायकों को रिसोर्ट में सांसद दुष्यंत सिंह ने रुकवाया था। मेरा जयपुर में खुद का घर है। मुझे पता चला तो मैं ललित को लेने रिसोर्ट चला गया। इस दौरान मैंने पार्टी प्रदेशाध्यक्ष सीपी जोशी, प्रदेश महामंत्री भजनलाल शर्मा को भी सूचना दे दी तो वे भी वहां कुछ कार्यकर्ताओं के साथ पहुंच गए। वहां ललित सहित बारां-झालावाड़ के विधायक कंवरलाल मीणा, राधेश्याम बैरवा, कालूलाल मेघवाल, गोविन्द रानीपुरिया को भी रोका गया था। 

ललित को वहां से लाने लगे तो अंता के विधायक कंवरलाल ने विरोध किया। वहां मौजूद उनके 10-15 कार्यकर्ता भी आए गए। कहा दुष्यंत की बिना मंजूरी नहीं जाने देंगे। हमसे धक्का-मुक्की की।  फिर जैसे-तैसे हम ललित को गाड़ी मैं बिठाकर रवाना हुए तो गाड़ियों पर पत्थर फेंके गए, मेरी गाड़ी का शीशा भी टूट गया। कहा कि सीएम फेस को लेकर पार्टी जो फैसला करेगी, हम उसके साथ हैं। 

विधायक ललित बोले-  पिता ने क्या कहा, उनसे पूछे, मैं नहीं बोलूंगा
मेरे परिवार की बात है। मैंने जहां जो बात कहनी थी, कह दी। मेरे पिता पूर्व विधायक हेमराज मीणा ने जो कहा, वह उनसे पूछे, क्या कहा। मैं कुछ नहीं बोलूंगा।  

Read More लोकसभा चुनाव: कांग्रेस में नेताओं के रिश्तेदार भी टिकट की दौड़ में शामिल

बाड़ाबंदी जैसा कुछ नहीं था, लेकिन जबरन बेटे को रोकना गलत
हालांकि हेमराज ने मीडिया से वहां विधायकों की बाड़ाबंदी किए जाने से इनकार किया है। सवाल पर कहा कि वहां बाड़ाबंदी जैसा तो कुछ नहीं था, लेकिन जबरन विधायक बेटे को रोकना गलत था। ललित सहित विधायकों को यहां पूर्व सीएम से मिलवाने लाए थे। इसके बाद वहां ले गए। मैंने वहां कहा भी कि पार्टी विधायक दल की बैठक होगी तब आ जाएंगे। यहां क्यों रुकें।

Read More देश के युवाओं एक बात नोट कर लो, मोदी की नीयत ही नहीं है रोजगार देने की: राहुल गांधी

Post Comment

Comment List

Latest News